बीजेपी विधायक पर निष्कासन की तलवार

देहरादून: उत्तराखण्ड में भितरघात को लेकर भारतीय जनता पार्टी सख्त नज़र आ रही है। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के दौरान पार्टी विरोधी गतिविधियों पर बीजेपी ने अपने विधायक उमेश शर्मा काऊ को कारण बताओ नोटिस जारी किया है।

करीब 3 महीने पहले विधायक प्रणव सिंह को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखाने के बाद अब देहरादून के विधायक उमेश शर्मा काऊ का एक ऑडियो वायरल होने पर विधायक काऊ को नोटिस भेजकर सफाई देने को कहा है। कुल मिलाकर विधायक की मुश्किलें आने वाले दिनों में बढ़ने वाली हैं।

उत्तराखण्ड में इन दिनों त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव हो रहे हैं। सभी राजनीतिक पार्टियां अपनी जीत को सुनिश्चित करने की कवायद में जुटी हैं। बीजेपी के विधायक उमेश शर्मा काऊ पर चुनाव के दौरान भितरघात का आरोप लगा है। पार्टी ने विधायक उमेश शर्मा को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। कारण बताओ नोटिस जारी करने के बाद विधायक से 3 दिन के अंदर जवाब देने को कहा गया है।

उत्तराखण्ड में पंचायत चुनाव जारी है ऐसे में बीजेपी के सख्त रुख़ के चलते पार्टी-विरोधी कार्रवाईयों में शामिल लोगों पर सख्त कार्रवाई की जा रही है। पंचायत चुनाव के दौरान ही पार्टी से बगावत करने वाली 90 पदाधिकारियों को बीजेपी ने पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया है।

ज़िला पंचायत सदस्य के लिए अस्थल सीट से पार्टी ने वीर सिंह चौहान को प्रत्याशी घोषित किया था। वीर सिंह चौहान के विरोध में वहां से किशन सिंह नेगी भी मैदान में उतर गए। इस बीच एक ऑडियो वायरल हुआ, जो विधायक काऊ का बताया जा रहा है। दावा किया जा रहा है कि इसमें विधायक काऊ किशन नेगी के लिए वोट मांग रहे हैं।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *